टॉप न्यूज़

15 मार्च से शुरू हो रहीं विश्वविद्यालयी परीक्षाएं, तीसरी आंख की जद में रहेंगे परीक्षार्थी

15 मार्च से शुरू हो रहीं विश्वविद्यालयी परीक्षाएं, तीसरी आंख की जद में रहेंगे परीक्षार्थी

गोरखपुर: स्थानीय दीन दयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय की वार्षिक परीक्षाओं के लिए तैयारियां पूरी हो गई हैं।प्रदेश में बीजेपी की सरकार आने के बाद अब यहां भी परीक्षाएं सुचिता पूर्ण सम्पन्न कराने के लिए तीसरी आंख का उपयोग होगा। बता दें कि गोरखपुर स्थित दीनदयाल उपाध्याय विश्व विद्यालय की वार्षिक परीक्षाएं आगामी 15 मार्च से प्रारम्भ हो रही हैं।

विश्वविद्यालय और उससे सम्बद्ध महा विद्यालयों में परीक्षाओं को शुचिता पूर्ण और नकल विहीन परीक्षा के लिए कड़े बंदोबस्त किए गए है।दशकों बाद यह पहला अवसर है कि जब परीक्षाओं के लिए पर केंद्रीय व्यवस्था पर अमल किया जा रहा है तो सीसीटीवी की निगरानी में पूरी परीक्षा कराने का भी यह पहला निर्णय है। यही नहीं केंद्राध्यक्षों द्वारा अलग-अलग कारणों से जिम्मेदारी संभालने से इन्कार करने से हो रही समस्या पर विश्वविद्यालय प्रशासन सख्त रुख अख्तियार कर रहा है।

अगर परीक्षा काल किसी केंद्र पर केंद्राध्यक्ष अवकाश लेता है तो संबंधित कालेज प्रशासन को ही नए केंद्राध्यक्ष बाबत नाम देना होगा। ऐसा न होने पर संबंधित केंद्र की सभी परीक्षाएं दूसरे केंद्र पर कराई जाएंगी। विश्व विद्यालय अपनी ओर से कोई केंद्राध्यक्ष तैनात नहीं करेगा। केंद्राध्यक्षों को इस बाबत स्पष्ट निर्देश दिए जा चुके हैं। विश्वविद्यालय प्रशासन परीक्षा के दौरान हर समस्या के निराकरण के लिए हमेशा तत्पर है। लेकिन केंद्राध्यक्ष यह सुनिश्चित करेंगे कि परीक्षा नकल विहीन ही हो।

पिछले वर्ष की ही तरह इस वर्ष भी विश्वविद्यालय परीक्षाओं में उत्तर प्रदेश सार्वजनिक परीक्षा अधिनियम1998 प्रभावी रहेगा। इसके तहत नकल करते हुए पकड़े जाने पर तीन माह की जेल हो सकती है, जबकि नकल कराने वालों को एक साल की जेल की सजा भुगतनी होगी। नकल करते पकड़े गए परीक्षार्थियों को जमानत दिए जाने का प्रावधान है। जबकि अन्य के खिलाफ गैर जमानती धाराओं में मुकदमा पंजीकृत होगा।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *