टॉप न्यूज़

पारिवारिक कलह बनी दरोगा विकास सिंह के खुदकुशी का कारण, मरने से पहले पत्नी से हुआ था विवाद

अरविन्द श्रीवास्तव
गोरखपुर: बीती शाम सिद्धार्थनगर जिले में तैनात दारोगा विकास सिंह ने महानगर के खोराबार के विवेकपुरम कालोनी स्थित अपने घर में सर्विस रिवाल्वर से गोली मारकर आत्महत्या कर ली। घटना की वजह पारिवारिक विवाद बताया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक मरने से पहले दरोगा का अपने पत्नी से कुछ वाद विवाद हुआ था। उसके बाद उन्होंने खुद को गोली मार कर आत्महत्या कर ली। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दारोगा का सर्विस रिवाल्वर कब्जे में ले लिया।

बता दें कि सिद्धार्थनगर जिले के गोलौरा थाने में तैनात 35 वर्षीय विवेक सिंह की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा में ड्यूटी लगी थी। शुक्रवार की शाम को ही वह ड्यूटी में गोरखपुर आ गए थे। रविवार को मुख्यमंत्री के गोरखपुर से जाने के बाद रक्षाबंधन मनाने वह विवेकपुरम कालोनी स्थित अपने घर पहुंचे। घर में उस समय पत्नी के अलावा विकास की माँ और छोटा भाई अविनाश भी था।

जानकारी के अनुसार तक़रीबन रात 8 बजे जब अविनाश और उसकी माँ छत पर थे तभी विकास सिंह और पत्नी शिप्रा सिंह के बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ था। कमरे में अचानक गोली चलने और इसके बाद शिप्रा के चीखने की आवाज परिवार के लोग नीचे आए तो विकास सिंह सोफे पर खून से लथपथ मिले। उनके बाएं सीने में गोली लगी थी। सोफे के पास ही सर्विस रिवाल्वर गिरी हुई थी। उधर, विवाद के बाद पत्नी शिप्रा ने अपने मायके फोन कर भाई को सूचना दे दी थी। इस बीच नंदानगर निवासी उसका भाई भी पहुंच गया। वह तत्काल घायल विकास को उसकी कार से जिला अस्पताल के लिए निकल गया।

कार में विकास के अलावा उनकी मां, पत्नी तथा दोनों बच्चे भी बैठ गए। रास्ते में मोहद्दीपुर के पास साले ने विकास की मां को उतार दिया। उसने कहा कि डॉक्टर को दिखाकर हमलोग अभी लौट रहें हैं। तब तक आप यहीं रुकिए। जिला अस्पताल पहुंचते ही डॉक्टर ने विकास को मृत घोषित कर दिया। उधर, मोहद्दीपर से दरोगा की मां ने अपने छोटे बेटे अविनाश को फोन किया। अविनाश मोहद्दीपुर गया जहां से मां को साथ लेकर जिला अस्पताल पहुंच गया। वहां भाई के मृत होने की जानकारी मिली तो उसने पुलिस को सूचना दी।

दरोगा के आत्महत्या की खबर के बाद पुलिस मौके पर पहुंच गई। सिद्धार्थनगर के एसपी को सूचना दी गई। सिद्धार्थनगर की पुलिस भी बाद में पंहुच गयी। वहीँ घटना की सूचना पर एसपी नार्थ रोहित सिंह सजवान, पुलिस अधीक्षक नगर विनय कुमार सिंह, क्षेत्राधिकारी कैंट प्रभात राय और खोराबार थाने की पुलिस मौके पर पहुंची चुकी थी।

पुलिस अधीक्षक नगर ने बताया कि शुरुआती छानबीन में पत्‍‌नी से विवाद के बाद दारोगा के गोली मारकर खुदकुशी करने की बात सामने आई है। मामले की गहराई से छानबीन की जा रही है।

बता दें कि विकास मूल रूप से लार, देवरिया के राउतपार अमेटिया गांव के रहने वाले थे। कई साल से उनका परिवार विवेकपुरम कालोनी में घर बनवाकर रह रहा है। विकास सिंह तीन भाइयों में दूसरे नंबर पर थे। दोनों भाई, पत्‍‌नी व दो बच्चों के अलावा मां भी उनके साथ रहती थीं। पिता कौशल कुमार सिंह की नौकरी के दौरान ही बीमारी से मौत के बाद विकास को उनकी जगह नौकरी मिली थी।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *