टॉप न्यूज़

सीएम सिटी के पहले एडीजी ने किया कार्यभार ग्रहण

गोरखपुर जोन के नए एडीजी ने किया कार्यभार ग्रहण

गोरखपुर: गोरखपुर जोन के एडीजी दावा शेरपा ने रविवार रात आठ बजे गोरखपुर पहुंचे। जहां सर्किट हाउस में आइजी रेंज एन चौधरी, एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज, एसपी नार्थ गणेश साहा, एसपी सिटी विनय कुमार सिंह, एसपी साउथ ज्ञान प्रकाश चतुर्वेदी तथा एसपी यातायात व एसपी क्राइम ने उनका स्वागत किया।

गोरखपुर जोन के नए एडीजी दावा शेरपा ने सोमवार को अपने कार्यालय पंहुच कर विधिवत कार्यभार ग्रहण किया।इस मौके पर एडीजी शेरपा ने अपनी प्राथमिकताओं को गिनाते हुए कहा कि अपराध पर और अपराधियो पर अंकुश लगाना, ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार बनाये रखना, जनता तथा मीडिया के साथ सामंजस्य बना कर काम करना,पुरानी चल रही जनकल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा करके उसे बनाये रखना लोगो को ट्रैफिक नियमो के प्रति जागरूक करना शामिल है।

उन्होंने कहा कि पुलिस जनता की उम्मीदों पर खरी उतरे ,अपराधियो में पुलिस का खौफ स्थापित हो उनकी प्राथमिकताओं में शामिल है ।उन्होंने कहा कि इंडो नेपाल की सीमा संदिग्ध है, उसपर भी निगरानी रखी जायेगी।

बता दें कि प्रदेश सरकार ने काफी पहले जोन में एडीजी नियुक्त करने का फैसला कर लिया था। इस फैसले के तत्काल बाद ही प्रदेश के सात अन्य जोन में आइजी की जगह एडीजी की नियुक्त कर दी गई थी, लेकिन गोरखपुर जोन में आइजी ही तैनात थे। पिछले दिनों आइजी जोन मोहित अग्रवाल का गोरखपुर से तबादला शिकायत प्रकोष्ठ में होने के बाद प्रदेश सरकार ने यहां भी एडीजी की तैनाती कर दी। इस पद पर पहली तैनाती एडीजी दावा शेरपा की हुई है।

1992 बैच के आइपीएस अधिकारी दार्जिलिंग के रहने वाले दावा शेरपा विज्ञान स्नातक हैं। एडीजी गोरखपुर जोन के पद पर तैनाती से पहले इस परिक्षेत्र में कुशीनगर जिले के पुलिस अधीक्षक रह चुके हैं। वह 2008 से 2012 तक सेवा से अनुपस्थित थे और इस दौरान उन्होंने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना वी आर एस के लिए आवेदन किया था, हालांकि राज्य के गृह विभाग में वीआरएस के लिए योग्य नहीं होने की शर्त 20 साल पूरी ना होने की वजह से आवेदन स्वीकार नहीं किया गया।

2012 में यूपी में वह सक्रिय पुलिस सेवा में वापस लौटे। 2013 में डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल डीआईजी और बाद में इंस्पेक्टर जनरल के पद पर तैनात हुए इसके बाद क्राइम ब्रांच सीबीआई की डिवीजन में पोस्टिंग हुई। इससे पहले वर्ष 2000 में SP कुशीनगर भी रह चुके हैं और उनका कार्यकाल बहुत ही तेज तर्रार रहा है। कुशीनगर में जंगल पार्टी पर काबू पाना उनकी उलब्धियों में शामिल है।

सीएम सिटी में शेरपा की नियुक्ति चुनौती पूर्ण हो सकती है,लेकिन एडीजी सभी कार्यो को सकुशल सपंन्न कराने का दावा कर रहे है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *