टॉप न्यूज़

खिचड़ी मेले के लिए गोरखनाथ मंदिर हुआ तैयार, सुरक्षा व्यवस्था हुयी चाक चौबंद

खिचड़ी मेले के लिए गोरखनाथ मंदिर हुआ तैयार

हरिकेश सिंह/संदीप त्रिपाठी
गोरखपुर: गुरु गोरक्षनाथ मंदिर में मकरसंक्रांति पर लगने वाले मेले की सभी तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई है। मकर संक्रांति के दिन से एक माह तक चलने वाले मेले को लेकर मंदिर प्रशासन जहाँ मुस्तैद है वही पुलिस और जिला प्रशासन ने भी सुरक्षा और व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम कर रखे है।

अबकी बार खास बात यह है की मंदिर के महंत योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार गुरु गोरखनाथ को खिचड़ी चढायेगे। इसको लेकर मंदिर प्रशासन और जिला प्रशासन ने खासा इंतजमात किए हुए हैं।

बता दें गोरखनाथ मंदिर में लगने वाला खिचड़ी मेला और मंदिर परिसर 4 लाख से अधिक श्रद्धालुओं के स्वागत के लिए लगभग सज कर तैयार हो गया है। मेला परिसर में करीब 1500 दुकाने सज चुकी हैं और मेले का लुफ्त उठाने के लिए लोगों के पहुंचने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। उधर श्रद्धालु गुरु गोरखनाथ के चरणों में बिना किसी बाधा की खिचड़ी चढ़ा सकेंगे इसके लिए मंदिर प्रबंधन ने इंतजाम को लगभग अंतिम रूप दे दिया है।

मेले को लेकर गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था हुयी और चाक चौबंद

मकर संक्रांति के अवसर पर गोरखनाथ मंदिर परिसर में लगने वाले पूर्वी उत्तरप्रदेश के सबसे बड़े मेला को लेकर पुलिस प्रशासन अपनी तैयारी पूरी कर ली है। मेला गोरखनाथ मंदिर परिसर में लगता है जहां यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ का आवास भी है और मेले में सीएम खुद मौजूद है इसको देखते हुए पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था हर बार से इस बार बढ़ा दी है ।

पिछले वर्ष से करीब दो गुनी संख्या में पुलिस के जवान तैनात करने का निर्णय लिया है। इस साल मेले में पीएसी जवानों के साथ पैरा मिलिट्री फ़ोर्स भी लगाई है। गोरखनाथ मेले की सुरक्षा पर नजर रखने के लिए सीसीटीवी कैमरा भी लगाया गया है। मेले में कही भी किसी प्रकार की दिक्कत न होने पाए इसलिए परिसर में पर्यटन पुलिस, शहर के थानेदार और चौकी प्रभारी भ्रमण करते रहेंगे।

क्या कहते हैं मंदिर के प्रबन्धक द्वारिका तिवारी

द्वारिका तिवारी ने बताया की खिचड़ी चढाने के लिए गुरु गोरक्षनाथ मंदिर तक पहुंचने के लिए बैरीकेडिंग प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। खिचड़ी चढ़ाने के दौरान किसी तरह की अव्यवस्था न हो इसके लिए महिला और पुरुष के लिए अलग-अलग लाइने बनी हुई हैं। श्रद्धालुओं के रुकने की भी व्यवस्था मंदिर प्रशासन और जिला प्रशासन द्वारा की गई है।

इस बार गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद बड़ी संख्या में VIP लोगों के आने की संभावना के मद्देनजर अलग बेरिकेटीक की व्यवस्था की गई है। जिससे उनकी वजह से सामान्य श्रद्धालुओं को दिक्कत ना हो और सामान्य श्रद्धालुओं की वजह से उन्हें परेशानी का सामना ना करना पड़े। इस बार मेले मे आए दुकानदार भी खुश है की इस बार भीड़ बढ़ने से उनकी ब्रिक्री भी ज्यादा होगी।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *