टॉप न्यूज़

राष्ट्रपति संवाद कार्यक्रम के दौरान दुर्व्यवस्था देख भड़के डीएम, कैमरामैन को लगाई फटकार

गणेश पाण्डेय ‘राज’
गोरखपुर: ‘एक जिला एक उत्पाद’ कार्यक्रम के तहत शुक्रवार को लखनऊ में आयोजित प्रोत्साहित कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने हस्तशिल्प कलाकारों को प्रोत्साहित किया। इस अवसर पर उन्होंने विभिन्न जिलों के कारीगरों से टेलीकास्ट के माध्यम से बातचीत करने के बाद उनकी उपलब्धियों के बारे में जाना तथा उनकी समस्याएं को सुना।

इसी क्रम में भटहट ब्लाक के गुलरिया गांव में स्थित नागेंद्र प्रजापति से भी राष्ट्रपति ने संवाद किया। नागेंद्र ने बताया कि वो पिछले 10 सालों से हस्तशिल्प के व्यवसाय से जुड़े हुए हैं। सरकार के काफी सहयोग के बदौलत पहले की अपेक्षा 3 गुना आमदनी का स्रोत बना लिए हैं।

नागेंद्र ने बताया कि पहले मिट्टी के बर्तन बनाने वाले हाथ से ₹3000 प्रति महीना का आमदनी का स्रोत था वही इलेक्ट्रिक शॉक मिलने के बाद 9000 प्रति महीना की आमदनी शुरू हो गयी है। वहीं सुनीता देवी ने बताया कि पति के मरने के उपरांत भी वो इस धंधे में काफी सक्रियता से अपने परिवार का भरण पोषण कर लेती हैं। हर महीने वो लगभग ₹6000 कमा लेती हैं।

दुर्व्यवस्था देख भड़के जिला अधिकारी

राष्ट्रपति का संवाद शुरू होने के पहले जिला अधिकारी के विजेंद्र पांड्यन दुर्व्यवस्था देख भड़क उठे। बता दें कि सवांद के समय कैमरे का लीड खराब था। बैठने की व्यवस्था सही नहीं थी। कलाकारों तथा स्थानीय लोगों की संख्या भी कम थी। इन सभी बिंदुओं पर जिलाधिकारी ने जायजा लेते समय कैमरामैन को फटकार लगाई।

इस अवसर पर तेज प्रताप सिंह पूजा श्रीवास्तवा संदीप ,इस्लाम ,शैलेंद्र सिंह आदि उपस्थित रहे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *