टॉप न्यूज़

हियुवा (भा) ने भी ठोंकी ताल, प्रदेश अध्यक्ष के नेतृत्व में अयोध्या पहुँचे हजारों कार्यकर्त्ता

गोरखपुर: अयोध्या में आज होने वाले धर्म सभा में हिन्दू युवा वाहिनी (भारत) ने भी अपना दमख़म दिखाने के लिए प्रदेश अध्यक्ष अनुभव शुक्ल में नेतृत्व में सैकड़ों कार्यकर्त्ता अयोध्या पहुँच चुके हैं।

शनिवार को हियुवा (भारत) के प्रदेश अध्यक्ष अनुभव शुक्ला, शिवसेना के महाराष्ट्र के औरंगाबाद से सांसद चंद्रकांत खरे, हियुवा (भारत) लखनऊ मण्डल प्रभारी रूपेश मिश्रा, समेत सैकड़ों हियुवा पदाधिकारीगण, हियुवा कार्यकर्ताओ अयोध्या पहुँच चुके हैं।

इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष अनुभव शुक्ल का कहना था कि अब देश में हर दिल की यही पुकार है कि अयोध्या में राम लला का एक भव्य मंदिर बने। उन्होंने कहा कि हियुवा (भा) ने नारा दिया है कि, ‘पहले मंदिर, फिर सरकार। ‘ उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि सरकार राम मंदिर निर्माण के लिए प्रभावी कदम उठाए। लाखों की संख्या में अयोध्या की सड़कों पर उतरे भक्तों की भावनाओं का खयाल सरकार करे वरना 2019 सिर्फ बीजेपी के लिए सत्ता सिर्फ सपना साबित होगी।

उन्होंने बताया कि 23 तारीख की शाम से ही वाहिनी के कार्यकर्ताओं का अयोध्या में जमावड़ा लगना शुरू हो गया था। प्रदेश के अलग- अलग जगहों से अब तक 20 हजार से अधिक कार्यकर्ता अयोध्या पँहुच चुके हैं।

प्रदेश अध्यक्ष के साथ सैकड़ों कार्यकर्त्ता ‘आओ चलें अयोध्या धाम , बुला रहे प्रभु श्री राम’, ‘हर हिन्दू की एक ही पुकार, पहले राम मन्दिर फिर सरकार’, ‘एक नहीं दो बार नहीं हर बार यही,’ ‘सौगंध राम की खाते हैं, हम मंदिर वहीँ बनायेंगे,’ आदि नारे लगा रहे थे।

बता दें कि विश्व हिंदू परिषद (विहिप) द्वारा रविवार को आयोजित ‘धर्म सभा’ से पहले अयोध्या एक सुरक्षा किले में तब्दील हो गया है जहां प्रमुख हिंदू संतों द्वारा एक विशाल राम मंदिर के निर्माण के लिए अपना रुख और रणनीति तैयार करने की संभावना है। उत्तर प्रदेश प्रशासन ने शहर में पुख्ता इंतजाम कर रखे हैं। रैली सुबह 11 बजे से शुरू होने की उम्मीद है।

पुलिस ने कहा कि शहर में हालांकि, भारी सुरक्षा तैनाती है, लेकिन राम लला के सैकड़ों-हजारों भक्त निषेधाज्ञा का उल्लंघन कर मंदिरों के इस शहर की ओर बढ़ रहे हैं। प्रांतीय सशस्त्र पुलिस दल (पीएसी) की 48 कंपनियां और अर्ध-सैन्य बलों की 15 कंपनियां सभी प्रमुख सड़कों और चौराहे पर तैनात हैं। किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए और भीड़ को नियंत्रित करने के लिए व्यस्त मार्गों पर बैरियर लगाए गए हैं। 150 से अधिक स्थानों पर सर्किट कैमरे लगाए गए हैं ताकि बढ़ती भीड़ पर नजर रखा जा सके।

महात्मा रविंद्र पुरी, दिगंबर अखाड़ा के महंत सुरेश दास, राम जन्म भूमि न्यास के प्रमुख महंत नृत्य गोपाल दास, हरिद्वार के जगत्गुरु रामानंदाचार्य हंसदेवाचार्य, जगत्गुरु रामनंदाचार्य स्वामी राम भद्रचार्य, ओडिशा से स्वामी ज्ञानानंद गिरि धार्मिक सहित 100 से ज्यादा प्रमुख हिंदू संत इस धार्मिक सभा में शामिल होंगे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *