टॉप न्यूज़

ब्यूटी पार्लर संचालिका हत्या काण्ड: पति सुनील सिंह ने ही लोढ़े से मारकर की थी हत्या

अरविन्द श्रीवास्तव
गोरखपुर: तकरीबन 19-20 सालों तक एक साथ रहने वाले पति सुनील सिंह ने ब्यूटी पार्लर संचालिका पत्नी रेनू की ऐन तीज से एक दिन पहले ही किचेन में रखे लोढ़े से कूच कर निर्मम हत्या कर दी। गोरखपुर पुलिस का भी जबाब नहीं कि महज 24 घण्टे के भीतर तीज वाले ही दिन हत्यारे पति के गुनाह को बेपर्दा करते हुए उसे सलाखों के पीछे भी पहुंचा दिया।

मंगलवार की भोर में रेनू की हत्या करने के बाद टहलने जाने के बहाने खून से सने अपने कपड़ो, हत्या में प्रयुक्त लोढ़ा को नाले मे फेंक कर वापस आने के बाद पति सुनील सि्ह ने पुलिस को खूब भरमाया। पोस्टमार्टम व तफ्तीश की प्रक्रिया में उलझी तिवारीपुर पुलिस से दूर होकर भागने की फिराक में डोमिनगढ़ रेलवे स्टेशन पर पकड़े गये हत्यारोपी सुनील पर पुलिस को मोहल्ले के सीसी टीवी कैमरे की फुटेज से हुआ जिसमे वह सुबह में टहलने के बहाने एक हाथ में झोला लिए हुए घर से निकला था।

लौटते वक्त उसके हाथ खाली थे। हालांकि सुनील ने पुलिस बुळाने से पहले अपने किराएदार को बुलाकर कमरे का हाल दिखा दिया था , जहॉ उसकी पत्नी अपने बिस्तर पर खून से लथपथ मरी पड़ी थी। सुनील ने लूट के लिए हत्या की कहानी पुलिस को सुना दिया था।

म्रतका रेनू सिंह का एक पुत्र है गोलू

म्रतका रेनू सिंह का एक पुत्र 18 वर्षीय गोलू इन दिनोंं दिल्ली में रहकर पढ़ाई कर रहा था।

भाई अजीत सिंह ने दिलवाया था प्लाट

म्रतका रेनू के भाई अजीत सिंह जो इस समय गोरखपुर जीआरपी में इंस्पेक्टर पद पर तैनात है, ने ही 10 साल पूर्व अपने मकान के बगल में खाली पड़े प्लाट को अपने बहनोई को दिलवाया था।

क्यों की हत्या

एसएसपी शलभ माथुर ने बताया कि देर रात पति पत्नी के बीच किसी बात पर विवाद हो गया जिसमें रेनू ने कुछ अपशब्द बक दिया , इसी बात पर ताव खाए सुनील ने लोढ़े से सिर और गले पर वार कर उसका काम तमाम कर दिया। इस घटना के खुलासे के लिए एसएसपी ने दो सीओ और दो इंस्पेक्टर को लगाया था।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *