टॉप न्यूज़

नूतन वर्ष में जिले में कई परियोजनाएं करने लगेगी काम

गोरखपुर: वर्ष 2017 बीत गया। प्रदेश में सरकार बनने के बाद जिले में शिलान्यासित कई परियोजनाओं में जहां तेजी आई है, वहीं आशा है कि इनमें से कई परियोजनाएं नए वर्ष में अपने आगाज पर पहुंच कर जिले को नया पहचान देने की कोशिश करेंगी।

जिनमे एम्स के निर्माण, फर्टिलाइजर निर्माण और नौसढ़ से कालेसर तक मार्ग के प्रकाश व्यवस्था परिपूर्ण होने हैं।

इस सम्बंध में नए वर्ष के अपेक्षीय कार्यों की समीक्षा बैठक में बताया गया कि एम्स निर्माण स्थल पर सभी अवैध अतिक्रमण हटा दिया गया है ताकि बाउन्ड्रीवाल का काम पूरा कराया जा सके। कार्यदायी संस्था ने बताया कि अब कोई बाधा नही है।

जबकि फर्टिलाइजर में भूमि समतलीकरण का आधा काम पूरा कर लिया गया है। मार्च 2018 तक कार्य पूरा कर लिया जायेगा।

जिला मुख्यालय को जोड़ने वाले नौसढ़ से कालेसर मार्ग प्रकाश व्यवस्था का काम पूरा कर लिया गया है। पोल की रंगाई-पोताई का काम कराया जा रहा है। गीड़ा द्वारा विद्युत कनेक्शन की कार्यवाही की जा रही है। 20 जनवरी तक इसे पूरा कर लिया जायेगा।

जिलाधिकारी ने पीडब्लूडी को निर्देश दिया है कि इस मार्ग पर डिवाइडर की पुनः रंगाई-पोताई करा दें ताकि रात में चलने वालो को दिक्कत ना हों।

जिलाधिकारी ने कार्यदायी संस्था को निर्देश दिया है कि मिट्टी खनन के लिए अपना आवेदन खनन कार्यालय को उपलब्ध करा दें। खनन अधिकारी ने बताया कि कुल 62 आवेदन प्राप्त हुये थे जिसका निस्तारण कर दिया गया है। शेष जिसको मिट्टी खनन की आवश्यकता हो, तत्काल आवेदन कर दें।

जिलाधिकारी ने कहा कि अनुसूचित जाति, जनजाति छात्र-छात्राओं के लिए आई0 ए0 एस0, पी0सी0एस0 एवं अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए भवन हेतु भूमि का चयन कर लिया गया है। उन्होंने तहसीलदार सदर विनोद सिंह को निर्देश दिया है कि तीन दिन में भूमि स्थानान्तरित करा दें।

जबकि जिले में गन्ना शोध संस्थान पिपराइच में स्थापित होगा। इसके लिए पिपराइच, रीठिया एवं हरकापुर की लगभग 52 एकड़ भूमि ली जायेगी। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि शोध केन्द्र के निदेशक सभी 630 किसानों से सहमति प्राप्त करायें ताकि राजस्व विभाग से भूमि स्थानान्तरण की कार्यवाही करायी जा सकें। डा0 सुचिता सिंह ने बताया कि 285 किसानों की सहमति प्राप्त हो गयी है।

जिलाधिकारी ने पीडब्लूडी, सीएण्डडीएस, गन्ना,बिजली, जलनिगम समाज कल्याण निर्माण निगम आदि की निर्माण योजनाओं की समीक्षा किया तथा समय से कार्य पूरा करने का निर्देश दिया है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *