टॉप न्यूज़

एमएलसी चुनाव: बागी गड़बड़ा सकते है सपा की गणित

MLC-candidate-from-Gorakhpuहरिकेश सिंह (वरिष्ठ संवाददाता)

गोरखपुर: स्थानीय निर्वाचन पदाधिकारी चुनाव में हालाँकि पार्टी के कथित तौर पर घोषित दोनों प्रत्याशी अपना दम खम लगाये हुए है और दोनों के ही दावे लगभग एक ही है किन्तु ये तभी सम्भव है जब पार्टी अपने नुमाइंदों की मुश्कें कसे। कारण पार्टी में चल रहे भितरघात से बागी पूरी गणित गड़बड़ा सकते है।
बता दें कि इन दिनों गोरखपुर और महाराजगज जनपद एमएलसी चुनाव की तपिश झेल रहा है। जिसमे सपा से ही दोनों प्रत्याशियों ने पर्चा दाखिल कर रखा है और दोनों ही अपने को सच्चा साबित कर भारी बहुमत से जीतने की बात भी कर रहे है। जबकि एक महत्वपूर्ण विषय ये भी है कि पार्टी के बागियों द्वारा सोची समझी रणनीति के तहत प्रत्याशियो का चयन किया जा रहा है।
Letter-from-Arvind-Sinbgh-Gपार्टी सूत्रो की माने तो इस चुनाव में बागी जिसके पक्ष में होंगे वो ही जीत का सेहरा बांधेगा।
बताते चलें कि ये वही बागी है जिन्हें प्रदेश और जिला कार्यकारणी में जगह नही दी गई और तो और त्रिस्तरीय पंचायती चुनाव में भी अपनों का साथ नही मिला।अब ऐसे में कथित तौर पर पार्टी के सशक्त उम्मीदवार जय प्रकाश यादव के जनसम्पर्क अभियान में सपा के चन्द चेहरे और जाति विशेष के लोगो की बहुलता दिखाई दे रही है जबकि उनके प्रतिस्पर्धी सीपी चन्द के साथ जाति विशेष के साथ साथ अन्य वर्गो के लोगो का भी सहयोग मिल रहा है।
इसके अतिरिक्त सीपी चन्द को पिछले चुनाव में हारने की सहानुभूति भी मिलने की आशा दिख रही है। इस चुनाव मे पार्टी का गणित गड़बड़ होने की असली वजह ये भी है कि चुनाव में मताधिकार प्रयोग करने वाले मतदाता पिछली सरकार बसपा के कार्यकाल के है और उनका कार्यकाल मार्च के दूसरे हफ्ते तक बताया जा रहा है।जो विरोधी ध्रुवीकरण के चलते मतदान में अहम् भूमिका निभाएंगे।
इन लगभग 4700 मतदाताओ में लगभग 1700 ग्राम प्रधान है शेष में बी डी सी, जिला पंचायत सदस्य, नगर निगम के पार्षद, टाउन एरिया के मेंबर, एमएलए और एमपी है। जिनकी पूछ इस चुनाव में आखिरी बार होनी है और यही जितने का प्रमुख कारक भी होंगे।ऐसे में जो प्रत्याशी जितने अधिक मतदाताओ को अपने पक्ष में साम, दाम, दंड, भेद की नीति से कर लेगा। निश्चित ही फतह उसके कदम चूमेगी।

सीपी चंद या जेपी यादव: कौन है असली, कौन है नकली के फेर में फस गया है सपा का एमएलसी चुनाव

एमएलसी चुनाव 2016: अधिकृत प्रत्याशी होने के बाद ज़ोर शोर से चुनाव प्रचार में जुटे जय प्रकाश यादव, समाजवादियो में उत्साह

एमएलसी चुनाव: आत्महत्या की धमकी के बाद सपा ने जय प्रकाश यादव को घोषित किया पार्टी का अधिकृत प्रत्याशी

बार बार टिकट काटना और देना जय प्रकाश यादव का अपमान: बसपा विधायक जीएम सिंह

एमएलसी चुनाव 2016: निष्पक्ष एंव शांतिपूर्ण मतदान कराने को प्रेक्षक ने दिए अधिकारियों को निर्देश

 

LIKE US:

fb
AD4-728X90.jpg-LAST

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *