टॉप न्यूज़

भगवान नरसिंह शोभा यात्रा में मुस्लिम समुदाय सीएम योगी को माला पहना कर करेगा स्वागत

गोरखपुर: जिस व्यक्ति विशेष पर विधानसभा चुनावों के पूर्व कट्टर हिंदूवादी होने का आरोप लगता रहा है।लेकिन बदलते घटनाक्रम में पिछली होली के दिन सदर सांसद रहे योगी आदित्यनाथ का मुस्लिम समुदाय द्धारा रेती के पुल पर शोभा यात्रा के दौरान माला पहना कर ज़ोरदार स्वागत किया गया था। आज फिर से उसी मुस्लिम समुदाय ने सांसद से प्रदेश के सीएम की गद्दी सम्हालने वाले योगी आदित्यनाथ को नरसिंह शोभायात्रा के दौरान फूलमाला पहनाकर स्वागत करने का निर्णय लिया है।

ज्ञातब्य है कि पिछले होली के अवसर पर निकली शोभायात्रा में सांसद व गोरक्षपीठाधीश योगी आदित्यनाथ का वकील अहमद के नेतृत्व में स्थानीय निवासियों ने माला पहनाया था और उसके दूसरे दिन तोतामैना शाह की मजार पर चादर चढ़ा कर उनके मुख्यमंत्री बनने की दुआ की गई थी।

इस सम्बंध में वकील अहमद ने का कहना है कि अपनी गंगा जमुनी तहज़ीब को दोहराते हुए इस बार भी होली के दौरान निकलने वाली शोभा यात्रा पर रेती के पुल पर मुस्लिम समुदाय ने योगी जी को माला पहनने और स्वागत की तैयारी कर रखी है। तब हमने अपने सांसद को माला पहनाया था,लेकिन इस बार हम अपने लोकप्रिय मुख्यमंत्री को माला पहनाएंगे।

अत्याधिक सुरक्षाकर्मियों और ड्रोन कैमरे से हो रही है नरसिंह शोभायात्रा की निगरानी

होली पर भगवान नरसिंह की शोभायात्रा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस ने कड़े सुरक्षा प्रबंध किए हैं। शोभायात्रा में सुरक्षा के लिए 6000 पुलिस जवान लगाए जा रहे हैं।वर्ष 1945 से निकल रही तकरीबन 5 किमी लंबी इस शोभयात्रा का नेतृत्व गोरक्षपीठाधीश्वर करते हैं।जहां शोभायात्रा के रास्ते में पड़ने वाले घरों की छतों से शहरवासी उन पर रंग बरसाते हैं।

गौरतलब है कि विगत कई वर्षों से सांसद रहे गोरक्ष पीठाधीश्वर इस बार मुख्यमंत्री भी हैं।लिहाजा पुलिस ने शोभायात्रा के साथ साथ उनकी सुरक्षा की ऐसी व्यवस्था की है कि परिंदा भी पर न मार सके। रास्ते में हर एक मीटर पर एक सशस्त्र जवान तैनात होगा। पुलिस अधिकारियों ने शोभायात्रा की सुरक्षा सात जोन और 19 सेक्टर में बांट दी है।

पूरे रास्ते को तीन सुपर जोन में बांट दिया गया है ।शोभायात्रा के एक दिन पहले से ही ड्रोन कैमरे से रास्ते और छतों की निगरानी शुरू हो गयी है।  भगवान नरसिंह की शोभा यात्रा की सुरक्षा के लिए जिले के बाहर से तीन एसपी, 15 सीओ, 1000 सिपाही, 400 एसआई बुलाए जा रहे हैं। दो कम्पनी पीएसी भी बुलाई गई है। जिले के पांच एएसपी और पूरी फोर्स की ड्यूटी भी लगाई गई है। एक कम्पनी आरएफ और एटीएस कमांडो की भी अधिकारियों ने डिमांड की है।

शोभायात्रा के रास्ते में जगह-जगह सीसी कैमरे लगाए जाने की बात कही जा रही है। कैमरों से एक दिन पहले से निगरानी शुरू हो चुकी है। जबकि पुलिस छतों पर ड्रोन कैमरे से इलाके की निगरानी कर रही है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *