टॉप न्यूज़

नईम एंड संस छापा: अब किरायेदारों और नौकरों की कुंडली खंगालेगी पुलिस

गोरखपुर: एटीएस के छापे में पकड़े गए तीन युवकों द्वारा बिना सत्यापन के किराए का कमरा लेकर रहने की सूचना के बाद अब जिले की पुलिस शहर में रहने वाले किरायेदारों और घरों के नौकरों का सत्यापन करेगी। इसके लिए थानों के बीट इंचार्जों को लक्ष्य दिए जाने की तैयारी चल रही है। जो अपने अपने हल्के के किरायेदारों और नौकरों का पूरा विवरण विभाग को मुहैया कराएंगे।

बता दें कि पिछले कई सालों से जिले में हुई चोरी और अन्य संगीन अपराधों के चलते पुलिस विभाग द्वारा किरायेदार व नौकर का सत्यापन कराने की बातें हुईं,किन्तु सम्भवतः विभागीय उदासीनता या फिर काम का बोझ के चलते यह योजना कभी भी फलीभूत नही हो सकी। इसमे कुछ हद तक किरायेदारों को जगह मुहैया कराने वाले मकान मालिक व नौकर रखने वालों की भी लापरवाही सामिल है।

अब जबकि टेरर फंडिंग के मामले में तीन किरायेदारों की भूमिका उजागर हो चुकी है, लिहाजा पुलिस अब इसे गम्भीरता से लेते हुए इस पर अमल करने जा रही है।जिसके लिए सम्बन्धित थानों के बिटवार इंचारजो को लक्ष्य देते हुए किरायेदार और नौकर का वेरिफिकेशन करने का निर्देश दिया है।वेरिफिकेशन में दूसरे जिले के रहने वाले किरायेदार का नाम, पता लेकर उनके मूल निवास वाले पते के थाने से जानकारी ली जाएगी। किसी के बारे में संदेह होने पर संबंधित जिले में पुलिस भेजा जाएगा। अगर कोई मकान मालिक जानकारी नहीं देते हैं और कोई हादसा हो जाता है या फिर कोई अपराधी पकड़ा जाता है तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।

एसएसपी शलभ माथुर ने इस सम्बंध में सभी थानेदारों को अपने क्षेत्र में रहने वाले किरायेदार व नौकरों के सत्यापन कराने के निर्देश दिए हैं। थानेदार पहले इस संबंध में एनाउंस कराएंगे। बाद में कैंप लगाकर सत्यापन के लिए आवेदन लेंगे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *