टॉप न्यूज़

राष्‍ट्रपति को नाम से याद थे सभी परिचित, कोविंद गोरखपुर में अपने जानने वाले 10 लोगों से मिले

अरविन्द श्रीवास्तव
गोरखपुर: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के शहर आगमन को लेकर यूं तो शहर का हर आम-ओ-खास प्रफुल्लित है और गौरवान्वित महसूस कर रहा है, पर शहर के कुछ चुनिंदा लोगों के लिए यह दिवस अविस्मरणीय बन गया है। ये वे लोग हैं जिन्हें राष्ट्रपति से मुखातिब होने का मौका मिला। शहर में राष्ट्रपति के विश्राम स्थल सर्किट हाउस में रविवार शाम जिन 10 चुनिंदा लोगों को राष्ट्रपति से भेंट करने का सुअवसर मिला, उनमें शहर के प्रथम नागरिक महापौर सीताराम जायसवाल, देश-विदेश में प्रतिष्ठित गीताप्रेस का प्रतिनिधिमंडल, उद्यमी भीष्म चौधरी, राष्ट्रपति कोविंद के सहयोगी रहे जीतू चौधरी, भाजपा नेता अष्टभुजा शुक्ला, समीर सिंह के नाम शामिल हैं।

केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री शिवप्रताप शुक्ला भी इस मुलाकात के दौरान मौजूद रहे। भेंट के दौरान राष्‍ट्रपति ने मंत्री शिव प्रताप शुक्‍ला से पूछा कि इस समय सत्‍येन्‍द्र सिन्‍हा (वर्तमान में भाजपा गोरखपुर के क्षेत्रीय उपाध्‍यक्ष) कहां हैं। इस भेंट में एक ओर जहां गोरखपुर व आस-पास के क्षेत्र की सांस्कृतिक, आध्यात्मिक और सामाजिक गतिविधियों को लेकर चर्चा हुई तो नागरिक सुविधाओं के विकास के जरिए गोरखपुर को राष्ट्रीय पटल पर छा जाने के लिए संक्षिप्त विमर्श भी हुआ। स्वयं राष्ट्रपति ने गोरखपुर से जुड़ी अपनी स्मृतियां साझा करते हुए शहर के विकास के लिए अपने सुझाव भी दिए।

महापौर से कहा, विकास कार्यों में लें जनसहयोग

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने महापौर सीताराम जायसवाल से शहर के विकास में जनता से भी सहयोग लेने का सुझाव दिया है। स्व’छ भारत मिशन की चर्चा करते हुए राष्ट्रपति ने महापौर के समक्ष देश के सबसे स्व’छ शहर इंदौर का उदाहरण दिया और कहा कि जिस तरह वहां जनसहयोग से सड़कें बनाई जा रही हैं, इसी तरह गोरखपुर में भी प्रयास करें। राष्ट्रपति के सुझाव को उपयोगी बताते हुए महापौर ने कहा कि जल्द ही विशेषज्ञों की एक टीम इंदौर रवाना होगी। इससे पहले उन्होंने गोरखपुर वासियों की ओर से शहर आगमन पर राष्ट्रपति का अभिनंदन भी किया।

वित्त राज्य मंत्री से की दिव्य सेवा मिशन के प्रयासों पर चर्चा

केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ल से मुलाकात के दौरान राष्ट्रपति ने कुष्ठ रोगियों एवं उनके ब”ाों की शिक्षा के लिए सतत प्रयासरत दिव्य प्रेम सेवा मिशन के प्रयासों पर चर्चा की। राष्ट्रपति ने संस्था से गोरखपुर व आस-पास के लोगों को भी जोडऩे की जरूरत पर बल दिया।

राष्ट्रपति ने पूछा… आजकल कहां हैं सत्येंद्र सिन्हा

केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री शिवप्रताप शुक्ला से मुलाकात के दौरान राष्ट्रपति ने भाजपा के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष डा.सत्येंद्र सिन्हा के बारे में भी जानकारी ली। उन्होंने पूछा कि आजकल सत्येंद्र कहां हैं, बहुत दिन हो गए उन्हें देखे हुए। राष्ट्रपति ने शिवप्रताप शुक्ल से कहा कि समय की बाध्यताओं को देखते हुए अभी उनसे मिल पाना मुमकिन नहीं लग रहा है। संभव हो तो आप यह संदेश उन तक भिजवा दें कि कल के गोरखनाथ मंदिर के कार्यक्रम में वह कहीं ऐसी जगह मौजूद रहें, जहां से वह उन्हें आसानी से देख सकें। इस बारे में जब सत्येंद्र से बात की गई तो उन्होंने बताया कि राष्ट्रपति का संदेश उन्हें मिल गया है, कल के कार्यक्रम में वह राष्ट्रपति के सामने मौजूद रहेंगे। राष्ट्रपति से मुलाकात कराने के लिए भी प्रशासन की तरफ से प्रयास किया जा रहा है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *