टॉप न्यूज़

8 को होगा दोहरीघाट-सहजनवा रेल लाइन का शिलान्यास, कमलेश पासवान ने किया स्थल निरीक्षण

बीएन तिवारी
गोरखपुर: गोला तहसील मुख्यालय के बगल में स्थित वी एस ए वी इंटरकॉलेज परिसर में केंद्रीय रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा द्वारा 8 मार्च को बहुत दिनों से प्रतीक्षारत दोहरीघाट से सहजनवा 70 किमी रेलवे लाइन का शिलान्यास होना है। उक्त आशय की जानकारी देते हुए बांसगांव के सांसद कमलेश पासवान मंगलवार को गोला इंटर कॉलेज के मैदान में अपने दल बल के साथ स्थल निरीक्षण करते हुए बताया कि काफी दिनों से भारी प्रयास के बाद संसदीय क्षेत्र की जन भावनाओ को सज्ञान में लेते हुए केंद्र सरकार ने इस परियोजना को मंजूरी दे दिया।

उन्होंने बताया कि रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा द्वारा इस रेलवे लाइन का शिलान्यास 8 मार्च को किया जाएगा। सांसद ने क्षेत्र की जनता से अपील की है कि भारी संख्या में आकर कार्यक्रम को सफल बनावे। इस स्थल निरीक्षण में भारी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित थे।

बता दें कि लम्बे समय सहजनवा-दोहरीघाट वाया बांसगांव रेल लाइन बनाने की मांग और एनई रेलवे प्रस्ताव पर रेल मंत्रालय ने मुहर लगाते हुए 2016 के रेज बजट में 746 करोड़ रुपये का बजट जारी कर दिया था। लेकिन बीते साल बजट से पहले रेलवे बोर्ड ने महत्वपूर्ण सहजनवां-दोहरीघाट को खारिज कर पूर्वांचल के लोगों को तगड़ा झटका दिया था।

इस लाइन के बन जाने से सीधे एक लाख लोगों को लाभ होगा। शहर के लोग तहसीलों में रेल से जा सकेंगे और तहसील के लोग रेल से सीधे शहर आ सकेंगे। सहजनवा से दोहरीघाट रेल लाइन बन जाने से दक्षिणांचल से विकास की उम्मीद है। यह रेल लाइन दक्षिणांचल के हर प्रमुख कस्बे बांसगांव, खजनी, गोला और बड़हलगंज से गुजरेगी। लाइन सरयू पार कर दोहरीघाट पहुंचेगी। कहने को यह एक रेल लाइन है मगर बिछ जाने के बाद इसके दक्षिणांचल की लाइफ लाइन बनने की पूरी संभावना है।

बता दें कि जनपद के दक्षिणांचल क्षेत्र को सत्तर के दशक से ही सहजनवां और दोहरीघाट को रेलमार्ग से जोड़ने की मांग विभिन्न मंचों पर उठती रही है। इसके लिए राजनीतिक दलों के बीच भी सहमति बन गई थी। जनता की भावनाओं को देखते हुए रेलवे ने रेल लाइन बिछाने के लिए अब तक चार बार इस रेल परियोजना के लिए सर्वे भी कराया, पर आगे की कार्रवाई ठप पड़ गई।

वर्ष 1988- 89 में बांसगांव के सांसद एवं तत्कालीन रेल राज्यमंत्री महावीर प्रसाद ने भी इस क्षेत्र को रेलमार्ग से जोड़ने की पहल शुरू की। तीसरी बार सहजनवां से कौड़ीराम होते हुए दोहरीघाट को जोड़ने के लिए सर्वे हुआ, पर यह मामला भी ठंडे बस्ते में चला गया। सर्वे के दौरान क्षेत्र में जगह- जगह गड़े रेलवे के पत्थर आज भी लोगों के दिलों में टीस पैदा करते हैं।

इस क्षेत्र की आम जनता और जन प्रतिनिधियों की मांग पर पिछले रेल बजट में ही रेल मंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु ने 2016 में ही सहजनवां से दोहरीघाट तक नई रेल लाइन बिछाने की स्वीकृति प्रदान कर दी थी। इसके लिए 743.55 करोड़ रुपये स्वीकृत भी कर दिया गया है। रेलवे प्रशासन की तैयारियों को देखकर लग रहा है कि अब बांसगांव क्षेत्र के लोगों को ट्रेन पकड़ने के लिए 50 किमी की दूरी तय नहीं करनी पड़ेगी।

फिलहाल, सर्वे की तेजी और रेलवे बोर्ड व प्रशासन की गतिविधियां बता रही हैं कि नए साल में नई रेल लाइन बिछाने का कार्य शुरू हो जाएगा।इस बार शुरू की गई पहल से लोगों में रेल लाइन बिछाने का काम शुरू होने की उम्मीद बंधी है।

सर्वे रिपोर्ट के मुताबिक सहजनवां से दोहरीघाट के बीच (75 किमी) नई रेल लाइन के बीच सात क्रासिंग स्टेशन बनाए जाएंगे। इस रेल मार्ग पर सहजनवां और दोहरीघाट जंक्शन स्टेशन बनेंगे। जिसमे बीच में सहजनवां, पिपरौली, खजनी, उनवल, बांसगांव, उरुवा, गोला बाजार, बड़हलगंज और दोहरीघाट स्टेशन बनेंगे।

सहजनवा से दोहरीघाट की दूरी-70 किलोमीटर
कुल स्टेशनों की संख्या——-सहजनवां, पिपरौली, खजनी, उनवल, बांसगांव, उरुवा, गोला बाजार, बड़हलगंज और दोहरीघाट में स्टेशन बनाए जाएंगे
निर्माण में कुल लागत——–746 करोड़
लाइन बिछाने में लगने वाला समय-3 साल

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *