टॉप न्यूज़

समाज के अछूते तबके के बच्चों को निःस्वार्थ शिक्षा दे रही गोरखपुर की यह समाज सेविका

 बच्चों को निःस्वार्थ शिक्षा दे रही गोरखपुर की यह समाज सेविका

गोरखपुर: जाति-मजहब से परे अगर दिल में देश और समाज की सेवा के लिए लगन है तो कोई भी बाधा उसे डिगा नहीं सकती। ऐसा ही जज्बा रखने वाली गोरखपुर शहर की सपना पांडेय ने गरीब और असहाय बच्चो को शिक्षा देकर उन्हें समाज की मुख्य धारा में जोड़ने का काम कर रही है। सपना ने आज तक ये नहीं देखा कि जिस बच्चे को वो शिक्षा दे रही है।वह किस जाति या किस धर्म का है।

Sapna Pandey in gorakhpur

Sapna Pandey in gorakhpur

मैले-कुचले कपड़ो में रहने वाले बच्चों को शिक्षित कर रही और लोगो के सहयोग से उन्हें आर्थिक मदद मुहैया कराकर समाज के साथ कंधे से कंधा मिला कर चलने की प्रेरणा दे रही है सपना के इस प्रयास ने उन्हें समाजसेविका बना दिया है।

बता दें कि गोरखपुर के रुस्तमपुर स्थित मानस पुरम कालोनी में रहने वाली सपना का बचपन उनके गगहा स्थित गांव कोहड़ा ने गुजरा। उनके पिता शशिकांत पांडेय और कुसुम लता की दुलारी बिटिया की प्रारम्भिक शिक्षा गांव में हुयी और उच्च शिक्षा ग्रहण करने वे शहर में आ गयी। सपना को बचपन से ही पढ़ने और पढ़ाने का शौक था। शुरू से ही वे अपने नीचे के क्लास के बच्चों को पढ़ाती रही।जिसे वह भविष्य में भी करते हुए वही कारवाँ आगे बढ़ाती रही।वे समाज के उन बच्चों को शिक्षा देने लगी जो समाज के लिए अभिशाप समझे जाते है।

Sapna Pandey

Sapna Pandey

अपने पिता को आदर्श मानने वाली सपना पांडेय का मानना है कि अगर अभिभावक अपने बच्चों का ध्यान दे,तो वो दिन दूर नहीं जब पूरा जिला प्रदेश और देश साक्षर रहेगा। उन्होंने कहा कि शिक्षित समाज से ही देश का विकास हो सकता है। इस लिए अपने बच्चों को शिक्षा जरूर दिलाये और उन्हें समाज की मुख्य धारा में जोड़ने का काम करे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *