टॉप न्यूज़

गोरखपुर लोकसभा क्षेत्र: ताल ठोकने से पहले फलाहार कार्यक्रम में असमंजस

अरविंद श्रीवास्तव
गोरखपुर: यूं तो वर्षों से नवरात्रि की दोनों बेला में केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री शिव प्रताप शुक्ला के आवास पर राजनीतिज्ञों, समाज सेवकों, कार्यकर्ताओं व अधिकारियों का जमघट लगता रहा है लेकिन इस बार हालात कुछ बदले बदले से रहे। चुनाव से पूर्व का युद्ध अभ्यास जैसा माहौल फलाहार कार्यक्रम में देखने को मिला। कुछ कार्यकर्ता बेहद उत्साहित थे तो कुछ टिकट की घोषणा के इंतजार में परेशान से दिखे।

सौ फीसदी यह तो तय है की वित्त राज्य मंत्री को लोकसभा का चुनाव नहीं लड़ना है लेकिन टिकट दिलवाने में उनकी सकारात्मक भूमिका को नकारा नहीं जा सकता है। अब तक प्रत्याशी की घोषणा ना होने से पार्टी कार्यकर्ता असमंजस की स्थिति में हैं तो वही उपचुनाव में आसमान देख चुके वरिष्ठ भाजपा नेता उपेंद्र शुक्ला को पूरी उम्मीद है कि इस बार भी भाजपा के टिकट पर ताल ठोकना है।

पूरे कार्यक्रम के दौरान वित्त राज्य मंत्री के बाएं कुर्सी पर विराजमान उपेंद्र शुक्ला के चेहरे पर कई भाव उतरते और चढ़ते देखे जा सकते थे। चुनावी आचार संहिता के कारण अधिकारी नदारद थे लेकिन मीडिया कर्मी अपने सवालों का जवाब खंगालने में व्यस्त रहे। सभी दिग्गज नेता, पदाधिकारी और कार्यकर्ता पांडाल में मौजूद थे लेकिन किसी के पास सवाल का जवाब देने का समय नहीं था क्योंकि भविष्य में क्या होने वाला है उन्हें भी नहीं मालूम था।

मायूसी और अंतरंगता के बीच फलाहार कार्यक्रम कई बार बेहद खुशगवार भी दिखा लेकिन अहम सवाल शुरू से अंत तक हवा में ही तैरता रहा। हर दिन पार्टी कार्यालय, दिग्गज नेताओं और सुदूर संसदीय क्षेत्र के कोने कोने तक अपनी उपस्थिति दर्ज कराने वाले वरिष्ठ भाजपा नेता उपेंद्र शुक्ला ने अभी भी आस नहीं छोड़ी है लेकिन पार्टी कार्यकर्ताओं में असमंजस बरकरार है क्योंकि दिन थोड़े बचे हैं और किसके नाम का वे लोग जनता से वोट मांगेंगे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *