टॉप न्यूज़

वैलेंटाइन डे पर बच्चों ने मनाया मातृ-पितृ पूूजन दिवस, कहा:माता-पिता की पूजा ही असली वैलेंटाइन डे

वैलेंटाइन डे पर बच्चों ने मनाया मातृ-पितृ पूूजन दिवस

गोरखपुर: कहते हैं कि धरती पर माता पिता बच्‍चों के सबसे बडे गुरू और पहली पाठशाला होते हैं। बच्‍चों के जीवन में संस्‍कार डालने का पहला काम घर पर माता पिता ही करते हैं और आजीवन उनके लिये सुरक्षा कवच का काम करते हैं। लेकिन आज के दौर पर जब बच्‍चे अपने बुजुर्ग माता-पिता को ओल्‍ड डे होम भेजने लगे हैं ऐसे में आवश्‍यकता इस बात की है कि बच्‍चों को बचपन से ही ऐसे संस्‍कार दिये जाय जिससे वह ताउम्र अपने माता पिता को अपना आदर्श मानते रहें और उनके लिये कुछ भी कर गुजरने को तैयार रहें। वैलेंटाइन डे यानी प्रेम के इजहार का दिन,आमतौर पर इस दिन को प्रेमी प्रेमिका या पति पत्‍नी के बीच प्रेम के रूप में माना जाता है। लेकिन गोरखपुर में वैलेंटाइन की एक नई परिभाषा गढी जा रही है माता पिता को भगवान मानकर उनकी पूजा और उनसे प्‍यार का इजहार करके।

 

Valentine Day Celebration in Gorakhpur

Valentine Day Celebration in Gorakhpur

गोरखपुर के कई स्‍कूलों में बच्‍चे अपने माता पिता को ही अपना वैलेण्‍टाइन मानकर उनकी पूरे विधि विधान से पूजा कर रहे हैं और उनसे अपने प्रेम का इजहार कर रहे हैं।
वैलेंटाइन डे यानी अपनो को यह जताने का दिन कि आप उनसे बेहद प्‍यार करते हैं और वह आपके लिये अनमोल हैं।आज के दिन अधिकतर युवा प्रेमियों के लिये उनकी दुनिया अपनी प्रेमिका तक ही सिमट कर रह जाती है।

ऐसे माहौल को बदलने का एक नया प्रयास किया जा रहा है गोरखपुर के कुछ स्‍कूलों में, जहां पर बच्‍चों को सबसे ज्‍यादा प्रेम करने वाले माता पिता को देवतुल्‍य मान आज के दिन को मातृ पितृ पूूजन दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। बच्‍चों ने अपने माता पिता के सामने कई सांस्‍कृतिक कार्यक्रम पेश किये और अपने गीतों के द्वारा उनकेा अपनी भावनायें बताईं। इसके बाद बच्‍चों ने अपने माता पिता को एक साथ बैठाकर उनकी विधिवत पूजा आरती की और पुष्‍प अर्पित किया। इसके बाद बच्‍चो ने माता पिता के चारो ओर सात फेरे लेकर उनके चरण स्‍पर्श किया और यह जताया कि उनके लिये सभी देवी देवताओं और तीर्थों से महान उनके माता पिता हैं।

Valentine Day Celebration Gorakhpur

Valentine Day Celebration Gorakhpur

इस कार्यक्रम में आये बच्‍चो के माता पिता भी अपने बच्‍चों केा पूजा करते और इतना सम्‍मान देते देखकर भा‍व विभाेर हो गये और उनकी आंखों में आंसू आ गये।अपने बच्‍चों को गले लगाकर इन्‍होने भी सदा उनका मार्गदर्शन देने का आशीष दिया और इस कार्यक्रम के आयोजन को अच्‍छा प्रयास बताया।इस कार्यक्रम में कई मुस्लिम परिवार के बच्‍चे और उनके माता पिता भी थे जो यहां पर बच्‍चों के द्वारा पूजे गये।

बच्‍चों के माता पिता का कहना है कि आज जिस तरह से बच्‍चों में संस्‍कार खत्‍म होते जा रहे हैं और माता पिता के प्रति उनमें सम्‍मान का भाव कम होता जा रहा है। उसे देखकर छोटी कक्षाओं से ही उनमेंं इस तरह के कार्यक्रमों के द्वारा संस्‍कार का बीजारोपण करना काफी अच्‍छा प्रयास है।

Valentine Day family Celebration Gorakhpur

Valentine Day family Celebration Gorakhpur

इस कार्यक्रम के आयोजक राकेश सिंह पहलवान का कहना है कि सच्‍चे अर्थ में वैलेण्‍टाइन अपने माता पिता के साथ ही मनाना चाहिये क्‍योंकि हमें सबसे ज्‍यादा प्रेम हमारे माता पिता ही करते हैं और आज के दिन इस तरह के कार्यक्रम के आयोजन से वह बच्‍चों और उनके माता पिता के रिश्‍तों को और प्रगाढ करने के लिये एक मंच देते हैं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *