Uncategorized

रणजी ट्रॉफी : असम, मुंबई, मध्य प्रदेश सेमीफाइनल में

Ranji-Trophyवलसाड़ (गुजरात): असम ने घरेलू क्रिकेट में इतिहास रचते हुए पहली बार रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल में जगह बनाई है। शनिवार को हुए क्वार्टर फाइनल मुकाबले में पंजाब को हराकर असम ने यह मुकाम हासिल किया।
सरदार वल्लभ भाई पटेल मैदान पर खेले गए मैच के चौथे दिन पंजाब दूसरी पारी में असम से 63 रन पीछे था। असम ने 20 गेंदों के भीतर पंजाब के शेष दो विकेट झटक कर सेमीफाइनल में जगह बनाई। पंजाब की पूरी टीम अपनी दूसरी पारी में 236 रनों पर आउट हो गई।
मध्यम गति के गेंदबाज अरुप दास ने दूसरी पारी में 83 रन देकर आठ विकेट लिए और टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई। उन्होंने दोनों पारियों में 124 रन देकर 11 विकेट लिए।
सेमीफाइनल में असम का सामना सौराष्ट्र से होगा जबकि दूसरे सेमीफाइनल में मुंबई का मुकाबला मध्य प्रदेश से होगा।
सौराष्ट्र ने एक दिन पहले शुक्रवार को ही विदर्भ को पारी और 85 रनों से हराकर सेमीफाइनल में जगह पक्की कर ली थी।
मुंबई और झारखण्ड के बीच हुए मैच में स्पिनर जय बिष्ट और इकबाल अब्दुल्ला ने पांच-पांच विकेट लेकर टीम को जीत दिलाई।
बिष्ट ने 16 रन देकर पांच विकेट लिए तो इकबाल ने 35 रन देकर पांच विकेट हासिल किए। झारखण्ड की टीम 490 रनों का पीछा करते हुए 94 रनों पर ही ढेर हो गई। झारखण्ड के तीन बल्लेबाज ही दहाई के आंकड़े तक पहुंच सके जिनमें सबसे ज्यादा स्कोर शिव गौतम (27) का रहा।
मुंबई के ब्रबोर्न स्टेडियम में मध्य प्रदेश ने पश्चिम बंगाल के साथ ड्रॉ खेल कर अंतिम चार में जगह बनाई। मध्य प्रदेश के पास 675 रनों की बढ़त थी। अंतिम दिन अपने पुराने स्कोर 338 पर पांच विकेट से आगे खेलने उतरी मध्य प्रदेश ने बंगाल के गेंदबाजों की जमकर धुनाई की। मध्य प्रदेश ने अपनी पारी नौ विकेट पर 560 रन बनाकर घोषित की। टीम की तरफ से हरप्रीत सिंह ने शतक लगाया।
हरप्रीत ने 139 रन बनाए। वह प्रज्ञान ओझा की गेंद पर आउट हुए। उन्होंने अपनी पारी में 206 गेंदें खेलीं और 14 चौके लगाए। उन्होंने पहली पारी में अर्धशतक लगाया था।
हरप्रीत के जोड़ीदार अंकित दाने (69) ने अंत में शानदार खेल दिखाया। दोनों ने छठे विकेट के लिए 149 रनों की साझेदारी की।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *