Uncategorized

सिडनी टी-20 : भारत ने आस्ट्रेलिया का सूपडा साफ किया

India-won-T20-series-againsसिडनी: भारत ने सिडनी क्रिकेट मैदान पर रविवार को खेले गए रोमांच से भरपूर तीसरे और अंतिम टी-20 मैच में आस्ट्रेलिया को सात विकट से हराकर श्रृंखला पर 3-0 से कब्जा जमा लिया। भारत को इस मुकाम तक पहुंचाने में रोहित शर्मा (52), विराट कोहली (50), सुरेश रैना (नाबाद 49) का योगदान रहा।
टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करने उतरी आस्ट्रेलिया ने भारत के सामने 198 रनों का विशाल लक्ष्य रखा था जिसे भारत ने मैच की अंतिम गेंद पर हासिल कर लिया।
भारत ने लक्ष्य का पीछा करने के लिए पूरे 20 ओवर खेले और महज तीन विकेट गंवाए। लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत की यह तीसरी सबसे बड़ी जीत और आस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरी बड़ी जीत है।
विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाजों शिखर धवन (26) ने शुरु से ही तेज खेल खेला। दोनों ने पहले विकेट के लिए 46 रनों की साझेदारी की। शेन वाटसन ने धवन को आउट कर इस साझेदारी को तोड़ा।
इसके बाद आए कोहली ने रोहित के साथ पारी को आगे बढ़ाया और आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की जमकर धनाई की। दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 78 रनों की साझेदारी की। दोनों ही खिलाड़ियों को कैमरून वॉयस ने आउट किया।
रोहित ने अपनी आतिशी पारी में 38 गेंदो का सामना करते हुए पांच चौके और एक छक्का लगाया। वहीं कोहली ने अपनी पारी में 36 गेंदे खेलीं। उन्होंने अपनी पारी में दो चौके और एक छक्का लगाया।
इन दोनों के बाद मैच जिताने की जिम्मेदारी रैना और युवराज सिंह (15) पर थी। दोनों ने रन गति को बनाए रखा और आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों पर लगातार प्रहार करते रहे। रैना ने अपनी तूफानी पारी में 25 गेंदें खेलीं। उनकी पारी में छह चौके और एक छक्का शामिल है।
टीम में वापसी कर रहे युवराज ने अंतिम ओवर में अपने अंदाज में बल्लेबाजी की। उन्होंने अंतिम ओवर में एक चौका और एक छक्का लगाकर टीम की जीत तय कर दी थी जिसे रैना ने अंजाम तक पहुंचाया।
अंतिम ओवर की आखिरी गेंद पर भारत को जीत के लिए 2 रनों की जरूरत थी। रैना ने अपने बल्ले से गेंद को सीमारेखा के पार पहुंचा कर भारत को जीत दिलाई और आस्ट्रेलिया को टी-20 श्रृंखला में 3-0 से हराकर सूपडा साफ किया।
आस्ट्रेलिया की तरफ से वाटसन ने एक और वायस ने दो विकेट लिए।
इससे पहले आस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए कप्तान शेन वाटसन (नाबाद 124) की तूफानी पारी की बदौलत निर्धारित 20 ओवरों में पांच विकेट के नुकसान पर 197 रन बनाए।
आस्ट्रेलिया की तरफ से वाटसन के अलावा ट्रेविस हेड ने 26 रनों का पारी खेली। आस्ट्रेलिया के बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों को ठीक से खेल नहीं पा रहे थे, लेकिन दूसरे छोर पर खड़े वाटसन ने ना सिर्फ पारी को संभाला बल्कि अपना तेज खेल भी जारी रखा।
चोटिल एरॉन फिंच की जगह कप्तानी कर रहे वाटसन नाबाद पेवलियन लौटे। उन्होंने अपनी पारी में 71 गेंदों का सामना किया और 10 चौके और छह छक्के लगाए।
टी-20 में किसी भी कप्तान का यह सर्वाधिक स्कोर है। इससे पहले यह रिकार्ड दक्षिण अफ्रीक के फाफ डू प्लेसी के नाम था। वाटसन और प्लेसी के अलावा श्रीलंका के तिलकरत्ने दिलशान ही ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने टी-20 में कप्तान के तौर पर शतक लगाया है।
वाटसन पहले आस्ट्रेलियाई खिलाड़ी हैं जिन्होंने क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में शतक लगाए हैं।
भारत की तरफ से जसप्रीत बुमराह, आशीप नेहरा, रविन्द्र जडेजा, रविचन्द्रन अश्विन और युवराज सिंह ने एक – एक विकेट लिया।
इस श्रृंखला में आस्ट्रेलिया का सफाया कर भारत ने एकदिवसीय श्रंखला में मिली हार का बदला लिया।
अपनी शानदार शतकीय पारी के लिए वाटसन को मैन ऑफ द मैच चुना गया। तीन मैचों में लगातार तीन अर्धशतक लगाने वाले भारत के कोहली को मैन ऑफ द सीरीज चुना गया।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *