Uncategorized

हेमामालिनी ने जमीन हड़पने के आरोप को खारिज किया

BJP-MP-Hemamaliniमुंबई: अभिनेत्री एवं भाजपा सांसद हेमामालिनी ने सोमवार को इस बात को गलत बताया कि वह ‘जमीन हड़पने’ में शामिल हैं।
हेमामालिनी की नृत्य अकादमी के लिए हुआ भूमि आवंटन विवादों में घिर गया है। इस मामले में अपनी चुप्पी तोड़ते हुए भाजपा सांसद ने पत्रकारों से कहा कि ‘भूमि हड़पने का कोई सवाल ही नहीं है।’ दिसंबर 2015 में महाराष्ट्र सरकार ने भूमि आवंटन में सभी नियमों का पालन किया है।
हेमामालिनी ने कहा, “इस प्लाट के लिए मैं बीते 20 साल से संघर्ष कर रही हूं। यह मेरा अधिकार है। अतीत में सभी मुझे यह जमीन देना चाहते थे लेकिन कोई न कोई मुद्दा आ जाता था और यह मिल नहीं पाता था।”
भूमि का यह टुकड़ा 2000 वर्ग मीटर का है। इसे नाट्यविहार कला केंद्र चैरिटेबल ट्रस्ट को हेमामालिनी की प्रस्तावित नृत्य अकादमी और एक सांस्कृति केंद्र के लिए दिया गया है। साथ ही एक सार्वजनिक उद्यान भी यहां बनाया जाना है।
बीते हफ्ते आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली ने आधिकारिक दस्तावेजों के हवाले से कहा कि करोड़ों की यह जमीन मथुरा की भाजपा सांसद को महज 70 हजार में दे दी गई है।
गलगली के आरोप पर हेमामालिनी ने कहा, “मुझे तो अभी यह तक नहीं पता है कि मुझे कितना पैसा देना होगा। मैंने अभी तक कोई भुगतान नहीं किया है। लेकिन, मैं कानूनसम्मत तरीके से भुगतान करूंगी। जमीन का यह टुकड़ा मुझे अभी मिलना बाकी है।”
उन्होंने अपने राजनैतिक असर की बातों को गलत बताया और कहा कि वह एक कलाकार हैं। यह भूमि उन्हें उनके सपनों को पूरा करने में मदद देगी।
उन्होंने कहा, “मैंने इसके लिए बहुत संघर्ष किया है। 20 सालों से यहां से वहां भाग रही हूं इसके लिए। यह आसान नहीं था। सरकार ने मुझे इसे दिया है। मैंने खुद ही जाकर इस पर कब्जा नहीं कर लिया है। ”
विपक्षी कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने मामले की जांच की और भूमि आवंटन को रद्द करने की मांग की है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *