Uncategorized

डीयू के पूर्व प्रोफेसर गिलानी गिरफ्तार, देशद्रोह का आरोप

SAR-Geelaniनई दिल्ली: दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के पूर्व प्रोफेसर एस.ए.आर. गिलानी को संसद हमले के आरोपी अफजल गुरु की बरसी पर कथित तौर पर दिल्ली स्थित प्रेस क्लब ऑफ इंडिया (पीसीआई) में कार्यक्रम आयोजित करने के लिए मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया है। गिलानी पर देशद्रोह का आरोप है।
एक पुलिस अधिकारी के मुताबिक, “गिलानी को देशद्रोह और आपराधिक साजिश के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। संसद मार्ग पुलिस स्टेशन में उससे पूछताछ की जा रही है।”
अधिकारी ने बताया कि गिलानी को सोमवार शाम हिरासत में लिया गया था। अधिकारी ने कहा, “पूछताछ के बाद आज (मंगलवार) को हमने उसे गिरफ्तार कर लिया।”
पुलिस ने पीसीआई परिसर में अफजल गुरु को फांसी दिए जाने के विरोध में कश्मीरी छात्रों द्वारा 10 फरवरी को की गई नारेबाजी के लिए देशद्रोह और अपराधिक साजिश की धाराओं के तहत उसी दिन प्राथमिकी दर्ज की थी।
पीसीआई की शिकायत के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की गई है।
गिलानी की गिरफ्तारी जेएनयू छात्र संघ के नेता कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी को लेकर चल रहे विवाद के बीच हुई है। कन्हैया पर भी देशद्रोह का आरोप है। कन्हैया ने 9 फरवरी को जेएनयू में आयोजित एक कार्यक्रम में देश विरोधी नारे लगाए थे।
पुलिस ने कहा कि वह जेएनयू और पीसीआई परिसर में आयोजित कार्यक्रमों से संबंधित 5-6 वीडियो क्लिप्स का विश्लेषण कर रही है। साथ ही अलग-अलग पुलिस दल दोनों कार्यक्रमों में मौजूद लोगों को गिरफ्तार करने के लिए दिल्ली और दिल्ली के बाहर विभिन्न स्थानों पर छापेमारी कर रहे हैं।
पीसीआई में कुछ लोगों ने कथित तौर पर अफजल गुरु के सम्मान में नारेबाजी की थी, जहां गिलानी तीन अन्य वक्ताओं के साथ मंच पर मौजूद था।
पुलिस ने मामले में स्वत: संज्ञान लेते हुए गिलानी और अन्य अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।
पुलिस ने कहा कि माना जा रहा है कि गिलानी कार्यक्रम का प्रमुख आयोजक था।
एक पुलिस अधिकारी के मुताबिक, “प्रारंभिक जांच के दौरान हमें मालूम हुआ कि गिलानी के आग्रह पर प्रेस क्लब में एक हॉल बुक किया गया था।”
पुलिस ने दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर और पीसीआई सदस्य अली जावेद से भी पूछताछ की है। जावेद की सदस्यता पर ही हॉल बुक किया गया था। कार्यक्रम के बाद पीसीआई ने जावेद को निष्कासित कर दिया था।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *