Uncategorized

कभी गोरखपुर की शान बढ़ा चुके हॉकी के दिग्गज खिलाड़ी मोहम्मद शाहिद का निधन

hockey-legend-mohammad-shahनई दिल्ली: भारतीय हॉकी के पूर्व कप्तान मोहम्मद शाहिद का लंबी बीमारी के कारण बुधवार को गुड़गांव के एक अस्पताल में निधन हो गया। वह 56 वर्ष के थे और काफी समय से किडनी और लीवर की परेशानी से जूझ रहे थे।पीलिया और डेंगू की चपेट में आने के कारण उनकी तबीयत और भी खराब हो गई थी। इस माह की शुरुआत में उन्हें वाराणसी से गुड़गांव के अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
शाहिद के बेटे मोहम्मद सैफ ने भाषा को बताया कि आज सुबह 10:45 पर उन्होंने आखिरी सांस ली। सुबह उनके सभी अंगों ने काम करना बंद कर दिया था । 56 बरस के शाहिद को मेदांता मेडिसिटी में इस महीने की शुरूआत में पीलिया और डेंगू होने के बाद भर्ती कराया गया था । उन्हें वाराणसी से हवाई जहाज से यहां लाया गया था।
सैफ ने बताया कि उन्हें वाराणसी ले जाया जायेगा जहां कल उनका अंतिम संस्कार होगा । अपने ड्रिबलिंग कौशल के लिये मशहूर रहे शाहिद भारत के महानतम हाकी खिलाडि़यों में से थे । वह 1980 मास्को ओलंपिक की स्वर्ण पदक विजेता भारतीय टीम के सदस्य थे । वह दिल्ली एशियाई खेल 1982 की रजत पदक विजेता और 1986 की सोल एशियाड की कांस्य पदक विजेता टीम के सदस्य भी थे।
रेलवे में स्पोर्ट्स ऑफिसर के पद पर कार्यरत मोहम्मद शाहिद को वर्ष 1986 में देश के चौथे सबसे बड़े नागरिक सम्मान पद्मश्री से नवाज़ा गया था। खेल के दौरान गेंद पर अपने बेजोड़ नियंत्रण के लिए मशहूर शाहिद को ज़फ़र इकबाल के साथ उनकी शानदार जोड़ी के लिए भी याद किया जाता है।

fb

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *