उत्तर प्रदेश

मोदी सरकार कर रही बुंदेलखंड की उपेक्षा : डॉ चंद्रपाल सिंह यादव

SP-MP-Chandrapal-Singh-Yadaझांसी: उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) के कोषाध्यक्ष एवं राज्यसभा सांसद डॉ. चंद्रपाल सिंह यादव ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार प्रदेश तथा बुंदेलखंड की उपेक्षा कर रही है।
उन्होंने सोमवार को कहा कि उत्तर प्रदेश के हिस्से वाले बुंदेलखंड के सातों जिलों के लिए 3700 करोड़ रुपये का पैकेज दिया गया था। इसमें झांसी जिले के लिए 886 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए, मगर मात्र 337 करोड़ रुपये ही दिए गए। मौजूदा केंद्र सरकार ने बुंदेलखंड पैकेज को ही बंद कर दिया है।
सांसद ने एक बयान जारी कर कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में पहले एक हजार फिर 500 की आबादी वाले गांव शामिल किए गए, लेकिन अभी तक एक हजार की आबादी वाले गांवों को मुख्य सड़क से नहीं जोड़ा जा सका है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने बुंदेलखंड के विकास के लिए एक हजार करोड़ रुपये स्वीकृत किए हैं। मगर केंद्र सरकार ओला, अतिवृष्टि तथा बाढ़ पीड़ितों को सहायता राशि देने के मामले में बुंदेलखंड की उपेक्षा कर रही है।
चंद्रपाल ने कहा कि अभी तक किसानों को जितनी राहत राशि उपलब्ध कराई गई है, वह राज्य सरकार ने अपने संसाधनों के बलबूते पर उपलब्ध कराई है। ललितपुर में बांधों के निर्माण पर भी केंद्र सरकार ने राशि उपलब्ध नहीं कराई। लहचूरा से अर्जुन सहायक बांध केंद्रीय सहायता नहीं मिलने के कारण 800 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले बांध की लागत तीन गुना 2400 करोड़ रुपये पहुंच गई है।
राज्यसभा सासंद ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार द्वारा बरते जा रहे भेदभाव के मामले में केंद्रीय मंत्री उमा भारती की प्रधानमंत्री के सामने मुंह खोलने की हिम्मत नहीं है।
जेएनयू के मामले में सांसद ने कहा कि देशद्रोही गतिविधि के मामले की जांच होना चाहिए तथा दोषी लोगों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। इसका राजनीतिकरण नहीं होना चाहिए। जेएनयू में आरएसएस से जुड़ी विद्यार्थी परिषद माहौल खराब कर रही है और केंद्र सरकार उसे शह दे रही है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *