उत्तर प्रदेश

राज्यसभा चुनाव: गुजरात की राह पर यूपी चुनाव, सपा-बसपा की शिकायत पर मतगणना रुकी

लखनऊ: प्रदेश में आज राज्यसभा के लिए 10 सीटों पर हुए चुनाव की मतगणना रोक दी गयी है। यह रोक सपा-बसपा की शिकायत पर लगायी गयी है। जानकारी के अनुसार दोनों पार्टियों ने यह आरोप लगाया है कि बसपा विधायक अनिल सिंह और सपा विधायक अनिल अग्रवाल ने चुनाव में मत देते समय अपना वोट अपने पर्यवेक्षक को नहीं दिखाया। चुनाव आयोग की इजाजत मिलते ही मतगणना शुरू हो जाएगी।

दोनों पार्टियों के शिकायत पर चुनाव आयोग ने मतदान प्रक्रिया का चुनावी फुटेज मंगाया है। इससे पहले आज राज्यसभा की दस सीटों के लिए आज हुए मतदान में समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के एक-एक विधायक ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उम्मीदवारों के पक्ष में क्रासवोटिंग की। वहीं निर्दलीय विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया ने मतदान के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर राजनीतिक संशय पैदा कर दिया है। राजा भैया ने सपा उम्मीदवार जया बच्चन के पक्ष में मतदान करने की घोषणा की थी लेकिन मतदान के बाद योगी से मुलाकात कर अनिश्चितता पैदा कर दी है।

राजा भैया के समर्थकों का कहना है कि उन्होंने और निर्दलीय विधायक विनोद सरोज ने जया बच्चन के पक्ष में मतदान किया है, जबकि भाजपा से जुडे लोग इससे अलग दावे कर रहे हैं। मतदान समाप्त होने के समय से एक घंटे पहले तीन बजे ही सभी मतदाताओं ने वोट डाल दिये थे। चार सौ दो विधायकों को मतदान करना था लेकिन बसपा के मुख्तार अंसारी और सपा के हरिओम यादव के जेल में रहने की वजह से 400 मत ही पड़े।

बसपा विधायक अनिल सिंह ने भाजपा उम्मीदवार के पक्ष में मतदान किया, जबकि सपा विधायक नितिन अग्रवाल ने भी भाजपा को वोट दिया। नितिन अग्रवाल के पिता नरेश अग्रवाल हाल ही में सपा छोड़कर भाजपा में शामिल हुए हैं। इसलिये यह माना जा रहा था कि नितिन अग्रवाल भाजपा उम्मीदवार को ही वोट देंगे। हालांकि तकनीकी तौर पर वह सपा विधायक ही हैं।

मतदाताओं की संख्या के आधार पर केन्द्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली समेत भाजपा के डॉ. अशोक बाजपेयी,विजयपाल सिंह तोमर, सकलदीप राजभर, कांता कर्दम, डॉ. अनिल जैन, जीवीएल नरसिम्हा राव और हरनाथ सिंह यादव तथा समाजवादी पार्टी (सपा) की जया बच्चन का जीतना लगभग तय है, जबकि दसवीं सीट पर बसपा प्रत्याशी भीमराव अम्बेडकर और भाजपा के नौवें उम्मीदवार अनिल अग्रवाल के बीच कड़ी टक्कर है। भाजपा के नौवें उम्मीदवार अनिल अग्रवाल और बसपा के भीमराव अम्बेडकर में से किसी एक के सिर जीत का सेहरा बंधेगा।

निर्दलीय विधायक अमनमणि त्रिपाठी और निषाद पार्टी के विजय मिश्र ने मतदान करने के बाद पत्रकारों से कहा कि उन लोगों ने भाजपा उम्मीदवार के पक्ष में वोट डाला है। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य का दावा है कि भाजपा का नौवां उम्मीदवार भी जीतेगा।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *