उत्तर प्रदेश

राज्यसभा चुनाव: नजरें निर्दलीय विधायक राजा भैया पर

राज्यसभा चुनाव: नजरें निर्दलीय विधायक राजा भैया पर

लखनऊ: प्रदेश में 10 सीटों के लिए हो रहा राज्यसभा चुनाव दिलचस्प मोड़ पर आ गया है। बसपा के एक विधायक अनिल सिंह और सपा विधायक नितिन अग्रवाल के क्रॉस वोटिंग के बाद सभी नजरें कुंडा से निर्दलीय विधायक बाहुबली रघुराज प्रताप सिंह उर्फ़ राजा भैया पर टिकी है। वैसे तो चुनाव से पहले अखिलेश यादव द्वारा दिए गए डिनर में शामिल होने से यह क्लियर हो गयी थी राजा भैया सपा के प्रत्याशी को ही वोट देंगे। लेकिन आज दोपहर राजा भैया द्वारा किये गए ट्वीट ने सभी समीकरणों को एक बार फिर से नया कर दिया।

वोटिंग से पहले राजा भैया ने एक ट्वीट कर लिखा है कि,””न मैं बदला हूँ, न मेरी राजनैतिक विचारधारा बदली है, ‘मैं अखिलेश जी के साथ हूँ,’ का ये अर्थ बिल्कुल नहीं कि मैं बसपा के साथ हूँ।”

राजनीतिक जानकारों काकहना है कि राजा भैया जो कह देते हैं उस पर कायम रहते हैं। ऐसे में यह उम्मीद लगाना मुश्किल होगा की राजा भैया सपा को छोड़ भाजपा को वोट देंगे। लेकिन वहीँ दूसरी तरफ सूत्र यह बता रहे हैं कि राजा भैया के करीबी पूर्व एमएलसी यशवंत सिंह को भाजपा सरकार में मंत्री बनाने के ऑफर के बाद राजा भैया भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में भी वोट कर सकते हैं। चुकी निर्दलीय विधायक के लिए वोट देते समय अपना मत दिखाने की कोई बाध्यता नहीं है ऐसे में राजा भैया का क्या फैसला होता है यह या तो चुनाव के बाद पता चलेगा या फिर राजा भैया खुद आकर कोई बयान दे दे तो बात अलग है।

भाजपा ने पहले ही यह दावा किया है कि कुंडा विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ़ राजा भैया किसी भी कीमत पर योगी से बगावत नहीं कर सकते हैं।राजा भैया और बसपा की अदावत किसी से छुपी नहीं है।

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लिए सपा से पूर्व एमएलसी यशवंत सिंह को इस्तीफा दिलाने वाले राजा भैया उन्हें राज्यसभा सांसद न बनाने के खफा है। कुछ दिनों पहले सोशल मीडिया पर भी यह बातें वायरल हो रही थीं कि यशवंत के कारण योगी और राजा में दूरी बढ़ गई है। वहीं बीजेपी के विश्वस्त सूत्रों का कहना है कि पार्टी उन्हें एमएलसी बनाकर राज्य मंत्रिमंडल में एडजस्ट करना चाह रही है, इसलिए यह उम्मीद जतायी जा रही है कि राजा भैया और विनोद सरोज बीजेपी के ही पक्ष में मतदान करेंगे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *