उत्तर प्रदेश

शहर में अब दोपहिये वाहन पर पीछे बैठने वालों के लिए भी हेलमेट जरूरी

Image-for-representation-1लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की अगुवाई में गुरुवार को कैबिनेट की बैठक हुई, जिसमें कई अहम फैसले लिए गए। कैबिनेट के एक फैसले के बाद उप्र में मोटरसाइकिल या मोपेड की पिछली सीट पर बैठने वालों को भी अब हेलमेट लगाना होगा।
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की अध्यक्षता में गुरुवार को कैबिनेट की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई। बैठक के बाद बाहर निकले मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान यह जानकारी दी।
कैबिनेट की बैठक में निकायों में वर्षो से लटके 40,000 संविदा सफाईकर्मियों व जल निगम में अवर अभियंता (सिविल) के रिक्त 126 पदों पर भर्ती पर भी मुहर लग गई है।
इसके साथ ही राज्य सरकार प्रदेश में गरीबी की रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले अल्पसंख्यक समुदाय के परिवार की लड़कियों की शादी के लिए अब 10,000 के स्थान पर 20,000 रुपये देगी। इस प्रस्ताव को भी कैबिनेट से मंजूरी मिल गई है।
अंग्रेजी शराब अब ट्रेटा पैक में (कागज के पैक में) भी मिलेगी। ये इकोनॉमी, मीडियम व 180 मिलीलीटर के पैक में होगा।
इसके अलावा उत्तर प्रदेश ग्रामीण आयुर्विज्ञान एवं अनुसंधान संस्थान, सैफई (इटावा) में 500 बेड के सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल और कानपुर हृदय रोग संस्थान में ओपीडी डायग्नोस्टिक एवं फीजियोथेरेपी को स्थानांतरित करने और 60 बेड बढ़ाने का भी फैसला लिया गया।
कौमी एकता दल के सपा में विलय को लेकर पूछे गए सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि अब बात कौमी एकता की नहीं, बल्कि स्वामी प्रसाद मौर्य की होनी चाहिए। कौमी एकता दल का विलय पार्टी के अध्यक्ष के कहने पर हुआ है। वही पार्टी के सर्वेसर्वा हैं।
बसपा छोड़ने वाले मौर्य को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में अखिलेश ने सिर्फ इतना कहा कि मौर्य से उनके काफी अच्छे संबंध हैं।

हमारा फेसबुक पेज LIKE करना न भूले:
fb

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *