उत्तर प्रदेश

स्कूली बच्चों के हाथों में कलम किताब की जगह झाड़ू

–बेपरवाह दिखे खण्ड शिक्षा अधिकारी

आशीष निषाद
आजमगढ़: जिनके कंधे पर नौनिहालों का जीवन संवारने का जिम्मा है वही उनके जीवन से इस तरह खिलवाड़ कर रहे हैं जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती ।कलम किताबों की जगह बच्चों के हाथों थमा दिया गया झाडू।

यह हाल है जनपद के अतरौलिया तहसील स्थित प्राथमिक विद्यालय प्रथम का। इस विद्यालय के चंद कदम की दूरी पर ही खंड शिक्षा अधिकारी अतरौलिया का कार्यालय भी है। कहने को यहां से पूरे ब्लॉक के विद्यालयों की शिक्षा की गुणवत्ता व मिड डे मील गुणवत्ता पर निगाह रखी जाती है मगर खंड शिक्षा अधिकारी महोदय की निरंकुशता का इससे बड़ा उदाहरण और क्या हो सकता है। इसे खण्ड शिक्षा अधिकारी की निरकुशता कहें या फिर कुछ और। नाक के नीचे हो रहे इस द्रश्य से वह अनिभिज्ञ हैं।

बता दें कि अतरौलिया खंड शिक्षा क्षेत्र के नगर पंचायत अतरौलिया में स्थित प्राथमिक विद्यालय प्रथम में कई दिनों से विद्यालय में अध्ययन कर रहे बालक बालिकाओं से विद्यालय की साफ सफाई कराई जाती है जिसका छात्रों में काफी आक्रोश भी था मगर वह मजबूर हैं कि अपनी व्यथा किसी से कह नहीं पाए। धीरे धीरे मामला जब प्रकाश में आया तो किसी ने इसका वीडियो बनाकर वायरल कर दिया।

सुबह विद्यालय खुलने के बाद सर्वप्रथम बच्चों के हाथों में झाड़ू थमा दिया जाता है और विद्यालय की सफाई कराई जाती है। कहने को यह विद्यालय अंग्रेजी माध्यम हेतु चयनित भी हुआ है।

मगर विद्यालय के शिक्षा का स्तर क्या होगा इसे यह तस्वीर ही बयां कर रही है। इस संबंध में विद्यालय का कोई भी स्टाफ कुछ बोलने को तैयार नहीं है मगर जब खंड शिक्षा अधिकारी शैलेंद्र त्रिपाठी से पूछा गया तो उन्होंने बड़ी सफाई से अनभिज्ञता जताते हुए जांच कर कार्रवाई करने की बात कह कर पल्ला झाड लिया।

जब उनसे पूछा गया कि आप के कार्यालय से चंद्र कदम की दूरी पर ही यह हाल है तो बाकी जगहों का क्या हाल होगा। सूत्र बताते हैं कि खंड शिक्षा अधिकारी महोदय कार्यालय में बैठे बैठे ही सभी विद्यालयों का निरीक्षण कर लेते हैं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *