मुख्यमंत्री के शहर में दो बस अड्डों पर शुरू हुई वाई-फाई सेवा, अगस्त से बसों में भी ले सकेंगे नेट का आनंद

गोरखपुर: भारतीय रेल की तर्ज पर राज्य के बस स्टैंडों पर विचाराधीन वाई-फाई सेवा का शुभारंभ मुख्यमंत्री के शहर के और गोरखपुर क्षेत्र के पहले दोनों बस अड्डों पर हो चुका है। अब रेलवे स्टेशन की तरह यात्री बस स्टैंड पर भी मुफ्त इंटरनेट का मजा ले सकते हैं। यह सुविधा बस स्टैंड के 100 मीटर के दायरे में सीमित होगी। हालांकि शुरुआती दौर में होने के कारण इंटरनेट की स्पीड अभी कम है, मगर 20 जून से इसकी स्पीड बढ़ जाएगी।

बुधवार को रेलवे (गोरखपुर डिपो) और कचहरी बस स्टैंड (राप्तीनगर डिपो) पर वाईफाई की सुविधा शुरू कर दी गई। हालांकि बस स्टैंड पर वाई फाई होने की जानकारी बहुत कम लोगों को थी,लिहाजा कम लोग ही अपने स्मार्टफोनों पर इंटरनेट का मजा लेते देखे गए।

बस स्टेशन पर बसों का इंतजार करने वाले यात्रियों को इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए पहले अपने मोबाइल फोन में वाईफाई को ऑन कर सर्च करना पड़ेगा।जहाँ ऑप्शन में ‘टीजी वाईफाई’ शो करेगा, जिसे क्लिक करने पर एक लॉग-इन आईडी लिखनी पड़ेगी। जिसमे अपना मोबाइल नंबर फीडकर ओके करना पड़ेगा। मोबाइल पर ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) आएगा। इसे डालते ही वाईफाई ऑटो कनेक्ट हो जाएगा। हालांकि अधिकारी के अनुसार अभी एक ओटीपी पर एक घंटे ही मुफ्त वाईफाई की सुविधा दी जाएगी। इसके बाद धीरे-धीरे स्पीड कम हो जाएगी।

जबकि इसके इतर यूपी रोडवेज की बसों में भी वाई फाई की सुविधा देने का काम अंतिम चरण में है। इसके लिए यूपी रोडवेज के अधिकारी मुम्बई की एक सेवा प्रदाता कम्पनी से सम्पर्क में हैं।सम्बन्धित कम्पनी ने अपना काम भी शुरू कर दिया है।आशा है कि यह सुविधा अगस्त माह से शुरुआती दौर में केवल एसी बसों में उपलब्ध कराई जाएगी।बाद में इसकी सफलता को देखते हुए अन्य सामान्य श्रेणी की बसों में भी उपलब्ध होगा।

इस सम्बंध में गोरखपुर क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय के एआरएम आरके मंडल ने बताया कि नेटवर्किंग का काम प्रगति पर है। शुरुआती दौर में ट्रायल चलने से स्पीड कुछ कम है किन्तु 20 जून से फुल स्पीड मिलने लगेगी।वाई फाई सुविधा का प्रचार-प्रसार करके अधिक से अधिक यात्रीयों को इसका लाभ दिया जाएगा।