विशुनपुरा में पत्नी ने सोते वक्त पति की ईंट से कूचकर की हत्या, प्रेमी संग गिरफ्तार

गोरखपुर: जनपद में एक बार फिर रिस्तो को शर्मशार करने वाली घटना सामने आयी है। जहाँ पर एक पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने पति की हत्या करवा दी और जब पति के शव को ठिकाने लगाने जा रहे प्रेमी और उसके दोस्तों को मृतक के पिता और उनके भतीजे ने गश्त कर रही पुलिस के सहयोग से पीछा कर पकड़ लिया । तब जाकर सारा मामला खुला।

बता दे कि मामला कैंट थाना के महादेव झारखंडी टुकड़ा नम्बर 2 स्थित विशुनपुरा इलाके का है। जहां पेपर डिस्ट्रीब्यूटर विक्की सिंह की देर रात सोते वक्त ईंट से कूचकर हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया है। दिलचस्प है कि डिस्ट्रीब्यूटर की पत्नी के इशारे पर ही उसके प्रेमी डब्लू सिंह ने ईंट से सिर कूचकर हत्या की वारदात को अंजाम दिया है।

न्यूज़ पेपर डिस्ट्रीब्यूटर विवेक उर्फ़ विक्की सिंह की ईंट से कूचकर हत्या की सनसनीखेज वारदात में हैरानी की बात ये है कि मृतक की पत्नी ने ही नाजायज संबंधों में आड़े आ रहे पति की हत्या की वारदात को अंजाम दिया है। दरअसल हत्या के बाद शव को छत के जरिए घर के बाहर निकाला गया था। जहां से बाइक पर लादकर शव को मेन रोड पर लाया गया था। जिसके बाद लाश को ठिकाने लगाने के लिए मौके पर हत्यारों ने लग्जरी कार मंगायी थी।

वहीं पुलिस ने लग्जरी कार को भी जब्त किया है। साथ ही सनसनीखेज हत्या के मामले में आरोपी पत्नी और उसके प्रेमी के समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं कलियुगी पत्नी की करतूत से पूरे इलाके में सनसनी मची है।

देर रात में ही शव को ठिकाने लगाने के दौरान आरोपी डब्लू सिंह अपने दो साथियों के साथ गिरफ्तार हुआ है। जबकि पूछताछ के बाद पुलिस ने मृतक की पत्नी को भी हिरासत में लिया है। वहीं इस मामले में मृतक के पिता देवेंद्र प्रताप सिंह ने अपनी बहू पर संगीन आरोप लगाते हुये उसे हत्या का कसूरवार ठहराया है।

इस पूरे मामले मे एसएसपी राम लाल वर्मा ने बताया कि कैन्ट थाना क्षेत्र के विरेन्द्र प्रताप सिंह पुत्र स्व0 अवध बिहारी सिंह निवासी मोहल्ला महादेव झारखण्डी टुकड़ा न0 1 विशुनपुरवा कुडाघाट गोरखपुर ने सूचना दी की मेरे लडके विक्की सिंह पुत्र विरेन्द्र प्रताप सिंह पता उपरोक्त को उसके ससुराल के चार लोग वाहन संख्या यूपी 52 एके 5390 महैन्द्रा टीवी से आये थे।

डब्लू सिंह, राधेश्याम, अनिल मौर्या व सुनिल तेली पकड़कर पल्सर मोटरसाइकिल नं0 यूपी 53 सीए 3785 पर बैठाकर राधेश्याम उसे पकड़ा था तथा डब्लू मोटरसाइकिल चला रहा था। अनिल व सुनिल तेली उन्हे मोटरसाइकिल पर बैठाकर पैदल भाग गये। मैने अपने भतिजे कुलदीप सिंह के साथ पीछा किया और इन्हे महादेव झारखण्डी मन्दिर के पास करीब 01.10 बजे डब्लू सिंह व राधेश्याम को पकड़ लिया। मेरे लड़के विक्की का चेहरा खून से लथपथ था अैर उसकी मृत्यु हो चुकी थी।

नाम पता अभियुक्त-
1. राधेश्याम मौर्य पुत्र लालू डब्लू सिंह उर्फ कामेश्वर पुत्र दीपनारायण
2. अनिल मौर्य पुत्र कन्हैया
3. सुनिल तेली पुत्र अज्ञात
4. श्रीमती सुषमा पत्नी स्व0 विक्की सिंह

Martia Jewels
Martia Jewels
Martia Jewels