झंगहा में अवैध शराब अड्डों पर कहर बनकर टूट रही महिलाएं

गोरखपुर: प्रदेश में जब से नई सरकार का गठन हुआ है, और सरकार के आदेश पर अवैध शराब के खिलाफ अभियान चलाए जाने की बात हुई तो सम्बन्धित सरकारी महकमे भले ही कार्रवाई के नाम पर महज खानापूर्ति करता रहा हो,किन्तु अवैध शराब की जद में बर्बाद हुए परिवारों की महिलाओं के सब्र का बांध टूट गया। यही कारण है कि पूरे जिले में चाहे सरकारी या अवैध हर तरह की दारू की दुकानों पर महिलाओं का जत्था कहर बरपा रहा है।

बता दें कि बीते कई वर्षों में जिले में अवैध शराब के चलते कई घर बर्बाद हो गए और कइयों ने अपनी आँख और जिंदगी से असमय ही हाथ धो दिया। जिसकी वजह से सैंकड़ो बच्चों को अपने सिर से बाप के साए से महरूम और माँ को लोगों के आगे हाथ पसार कर बच्चों को पालना पड़ा। शायद यही वजह है कि सरकार जब महिलाओं को लेकर गंभीर हुई तो महिलाओं ने भी अपने तेवर दिखाना शुरू कर दिया और शराब के खिलाफ आंदोलन में कूद पड़ी।

आज झंगहा थाना क्षेत्र के मंगलपुर गांव में महिलाओं ने कच्ची शराब के खिलाफ जमकर हंगामा किया और हाथो में लाठी डंडे लेकर कच्ची शराब के अड्डो पर कूद पड़ी।यह देख पुलिस के होश उड़ गए और उन्होंने भी मोर्चा सम्हाल लिया।पुलिस ने शराब की कई भट्ठियां तोड़ी। साथ ही महिलाओं ने पुलिस पर शराब कारोबारियो से मिली भगत का आरोप लगाया।

मौके पर महिलाओं के दल का नेतृत्व कर रही लक्ष्मी(ग्रामीण महिला) ने बताया कि यहाँ पर बहुत दिनों से कच्ची शराब बनाई जा रही है।शराब के नाते कई घर बर्बाद हो गए है। बच्चे भी अब शराब पिने के आदि होते जा रहे है। हाल यह है,कि परिवार के मुखिया दारू पीने के बाद घर पर आकर परिवार से झगड़ा करते है।